X Close
X

क्रिएटिव भूमि बने देवभूमि: स्मृति


Moradabad:

मसूरी। केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि उत्तराखंड केवल फिल्मों तक ही सिमट कर न रह जाए, बल्कि यहां से फिल्म इंडस्ट्री को क्रिएटिव कटेंट भी मिले। उन्होंने कहा कि सरकार को ऐसा प्रयास करना चाहिए कि उत्तराखंड को केवल देवभूमि ही नहीं, बल्कि क्रिएटिव भूमि के नाम से भी जाना जाए।
राज्य स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने मसूरी पहुंची केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि उत्तराखंड के युवा फिल्म जगत के साथ-साथ यहां की सांस्कृतिक विरासत को टेक्नोलॉजी के जरिये देश-दुनिया के सामने रखे। इसके लिए आजकल तमाम माध्यम हैं। हम अपनी बोलियों को इन माध्यमों के जरिये सामने रख सकते हैं। ईरानी ने कहा कि एक अच्छी कहानी ही फिल्म निर्देशकों को देवभूमि का खींच कर ला सकती है और यह कंटेंट उत्तराखंड के युवा ही मुहैया करा सकते हैं। इससे यहां के युवाओं को रोजगार तो मिलेगा ही, इसके अलावा बॉलीवुड में पहचान भी मिलेगी।
स्मृति ईरानी ने कहा कि जल्द ही उत्तराखंड में क्रिएटिव इंस्टीट्यूट की स्थापना की जाएगी, जिससे यहां से बेहतर कंटेंट राइटर और कैमरामैन भी उपलब्ध हो सकें। कार्यक्रम में फिल्म निर्देशक तिग्मांशु धूलिया और श्रीनारायण मिश्रा ने भी विचार रखे। इस दौरान फिल्म निर्देशक रत्ना सिन्हा, उमेश शुक्ला, भरत बाला, कविता चैधरी, फिल्म निर्माता मुजफ्फर अली, राहुल मित्रा, अभिनेत्री रूप दुर्गापाल समेत कई कलाकार मौजूद थे।

Hukoomat Reporter