X Close
X

गैरसैंण को राजधानी बनाने को कांग्रेसियों ने निकाली तिरंगा यात्रा


Moradabad:

हरिद्वार। राज्य स्थापना दिवस की पूर्व संध्या पर प्रदेश कांग्रेस सेवादल कार्यकर्ताओं ने गैरसैंण को राज्य की स्थायी राजधानी घोषित करने के लिए महाराजा अग्रसेन घाट से कोटद्वार तक तिरंगा यात्रा का आयोजन किया। यात्रा को कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
इस दौरान सेवादल कार्यकर्ताओं ने राज्य के शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित करते पूजा अर्चना भी की। सेवादल कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए किशोर उपाध्याय ने कहा कि राज्य के शहीदों के सपनों के अनुरूप गैरसैंण को राज्य की स्थायी राजधानी घोषित किया जाना चाहिए। राज्य के लिए बलिदान देने वालों की भावनाओं का सम्मान किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि लोगों को जल, जंगल और वनों के हकूक के बारे में भी विस्तार से बताया। सेवादल के प्रदेश अध्यक्ष राजेश रस्तोगी ने कहा कि राज्य स्थापना दिवस पर गैरसैंण को स्थायी राजधानी घोषित कराने के लिए निकाली जा रही तिरंगा यात्रा मील का पत्थर साबित होगी। उन्होंने कहा कि राज्य का विकास प्रदेश की जनता के अनुरूप नहीं हो पा रहा है। राज्य के युवाओं को राज्य में ही रोजगार के अवसर मिलने चाहिए। राज्य से पलायन की समस्या का निस्तारण सरकारों को करना होगा। उन्होंने कहा कि दुर्गम क्षेत्रों की समस्याओं को हल करने के लिए सरकार को कार्ययोजनाएं तैयार करनी चाहिए। चिकित्सा, स्वास्थ्य, शिक्षा सुदूरवर्ती क्षेत्रों में निवास कर रहे लोगों को मिलनी चाहिए। जल, जंगल, जमीन बचाने के लिए सरकार को निर्णायक कदम उठाने की आवश्यकता है। राज्य सरकार गैरसैंण राजधानी बनाने को लेकर अब तक प्रदेश की जनता को गुमराह कर रही है। पर्वतीय क्षेत्रों के विकास में गैरसैंण राजधानी का बनना मील का पत्थर साबित होगा। यह यात्रा प्रदेशवासियों को जागरूक करने में सफलता के नए आयाम रचेगी। इस अवसर पर मनमोहन शर्मा, राजेंद्र दुर्गापाल, सत्यनारायण शर्मा, विभाष मिश्रा, सुमित तिवारी, कुलदीप शर्मा, नीरज त्यागी, शीतल सिंह, कुंवर सिंह यादव, नितिन कौशिक, मुकेश आहूजा, जमशेद, फैयाज अली, आशु शर्मा, मनोज महंत, जगमोहन आर्य, सूर्य प्रताप सिंह रावत, अशोक उपाध्याय, विशाल राठौर, अंशुल श्रीकुंज, राजवीर सिंह चैहान, मोहन सिंह आदि प्रमुख रूप से शामिल रहे।

Hukoomat Reporter