X Close
X

रुद्रप्रयाग में गुलदार ने महिला को बनाया निवाला


Moradabad:

रुद्रप्रयाग। रुद्रप्रयाग में गुलदार का आतंक थम नहीं पा रहा है। बुधवार को एक व्यक्ति को निवाला बनाने के बाद गुलदार ने एक और महिला को मौत के घाट उतार दिया। मौके पर जमा ग्रामीण शव उठाने से इनकार कर रहे हैं। ग्रामीणों के आक्रोश के बीच प्रमुख वन संरक्षक और मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक राजीव भरतरी ने गुलदार को नरभक्षी घोषित कर मारने के आदेश जारी कर दिए हैं। मौके पर वन विभाग और प्रशासन के अधिकारी मौजूद हैं।
घटना रुद्रप्रयाग के भरदार क्षेत्र के बांसी ग्रामसभा की है। गांव से दस महिलाएं रोज की तरह घास लेने सुबह जंगल गई थीं। इनमें सुधा (32 वर्ष) पत्नी भगत सिंह भी शामिल थी। सुधा भी घास काटने में तल्लीन थी कि घात लगाए गुलदार ने उस पर हमला कर दिया। वह सुधा को घसीटते हुए करीब डेढ़ किलोमीटर दूर झाड़ियों में ले गया। साथ की महिलाओं ने शोर मचाया और गांव में सूचना दी। कुछ ही देर में बड़ी संख्या में ग्रामीण लाठी डंडों के साथ घटना स्थल पहुंचे और सुधा की तलाश शुरू की। सुधा का अधखाया शव घटना स्थल से कुछ दूर झाडियों में मिला।
गौरतलब है कि छह नवंबर को इसी गांव से सटे सतनी गांव के मदन सिंह को भी गुलदार निवाला बना चुका है। दो दिन में दो मौत से गुस्साए ग्रामीणों ने गुलदार को नरभक्षी घोषित कर तत्काल मारने की मांग की। ग्रामीणों के गुस्से को देखते हुए जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने वन विभाग के उच्चाधिकारियों को मामले की जानकारी दी। उपप्रभागीय वनाधिकारी महिपाल सिंह ने बताया कि चमोली जिले से शिकारी लखपत सिंह को बुलाया गया है। मौके पर एक पिंजरा भी रखा गया है। दूसरी ओर खबर लिखे जाने तक ग्रामीण शव के साथ मौके पर ही जमा हैं।

Hukoomat Reporter